एक – चौथाई मौतों का कारण हृदय रोग

Use your ← → (arrow) keys to browse
Loading...

एक-चौथाई मौतों का कारण हृदय रोग

Loading...
loading...

भारत में कैथ लैब (दिल के रोगों की जांच करने वाली लैब) और कोरनरी इंटरवैंशन्स (दिल की नाड़ी में स्टेंट डालना) का व्यापार आगामी 5 वर्षों में दोगुना होने के आसार हैं जोकि इस तरफ इशारा करता है कि दिल के रोगियों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है और लोगों को कैथ लैब की बेहद आवश्यकता पड़ रही है। अगले 5 सालों में कैथ लैब की संख्या में दोगुनी बढ़ौतरी होगी। 2010 में 251 कैथ लैब थीं जोकि 2015 में बढ़कर 630 तक पहुंच गईं। वहीं कोरनरी इंटरवैंशन्स 2014 से 2015 के बीच 51 प्रतिशत बढ़ गईं। एक अध्ययन में सामने आए डाटा के अनुसार 2015 में 3,75,000 कोरनरी इंटरवैशन्स के लिए 4,75,000 स्टेंट उपयोग किए गए थे जबकि 2010 में 1,17,420 स्टेंट का इस्तेमाल किया गया था।

Loading...

Use your ← → (arrow) keys to browse
loading…

Next post:

Previous post:

x
Please like us: